Friday, October 14, 2016

RULES REGARDING ' AAJ KA LAFZ' PROGRAAME


Whatsapp par "Mehfil" Group meiN

"आज का लफ्ज़" Prograame ke तहत नगमों ka ek friendly cometition hai jismeiN koii bhi मानदेय नहीं है | इस प्रोग्राम में हर शनिवार को शाम 4.००  बजे एक  लफ्ज़ दिया जाता है जिस पर हर participant us lafz waale nagmeiN pesh karne hote haiN, jinmeiN diyaa hua lafz istemaal kiya gayaa ho.


For Example  agar lafz       "वफ़ा"  hai

To nagmaa... 1)  बे-वफ़ा यूँ तेरा मुस्कराना याद आने के काबिल नहीं है |
                           या
                     २) वफ़ा जिनसे की बेवफा हो गये


(Remember....no word other than this allowed....)

I repeat "वफ़ा" के इलावा कोई और शब्द मान्य नहीं होगा )

Rules to follow

1) नग्मे में "वफ़ा" लफ्ज़ ज़रूरी है और उसे स्पष्ट लिखें । नग्में को इस लफ्ज़ पर आने तक ज़रूर लिखें ।

2) is word par song ki two lines is tarah likhni hai ki sab ko samajh aaye kii gaane ke bol kya haiN....sirf 2 words nahin chalenge...

3) Koi song repeat nahi hona chahiye ....
कोई भी शख्स एक बार से ज़्यादा नग्में repeat karega वरना   हर repeating nagmeiN ka ek point minus. Ker diya jaayega.
So be careful...frst read all the participants' songs than place your song.

4) Jo shaks song ke bol likhega...agle mehfilian ki wait karega...

5) Koi bhi lagataar 2 song nahi likhega.

Ye silsila अगले दिन शाम 4.०० बजे तक चलेगा |
6) ठीक 4 बजे के बाद कोई नगमा मान्य नहीं होगा ।

7) aakhiri 10 मिनट free hand hoga... यानी अंतिम दौर के वक़्त 3.50 बजे से 4 बजे तक अपने नग्में लगातार भी लिख सकते हैं  ध्यान रहे सिंगल 'cilck copy paste' is not allowed.....you have to pen down each and every song...

7) Shaam (evening) 8.00 baje se subah(मॉर्निंग) 9.00 baje tak rest hoga. Is बीच koi bhi entry मान्य नहीं होगी ।


रिजल्ट हर इतवार  रात 9 बजे या उसके बाद घोषित किया जाएगा

Result declared by the judges is final...no dispute will be entertained.